Tue. Feb 25th, 2020

अपने ‘वेलेंटाइन-डे’ को यादगार बनायें-ज्योतिषाचार्य अनिल मित्रा

 

संजय पुरबिया

लखनऊ। दुनिया का हर बंधन प्यार से बना होता है, अगर प्यार न हो, तो जिन्दगी में खुशियाँ नहीं हो सकती, वैसे प्यार का इजहार कभी वक्त या मुहूर्त देखकर नहीं किया जाता, प्यार त्याग, विश्वास की एक ऐसी डोर है, जिसे बस महसूस कर सकते हैं जिसे शब्दों में पिरोना आसान नहीं… ऐसे ही प्यारे अहसास को अब एक त्यौहार ‘वेलेंटाइन-डे’ के रूप में मनाया जाता है। इस अनमोल अहसास को वक्त देना भी बहुत जरुरी है और वक्त शायद इस भाग- दौड़ की दुनिया में कही खो गया है। वक्त एक ऐसा पंछी है, जो अगर हाथ से निकल गया, तो वापस नहीं आता… ‘वैलेंटाइन-डे’ के दिन सब अपने प्यार के लिए वक्त निकालते हैं। सब इस दिन के लिए प्लान बनाते हैं और ‘वैलेंटाइन-डे’ केवल एक दिन नहीं, बल्कि पूरे हफ्ते मनाया जाता है । हर एक त्यौहार की एक कहानी होती है, कुछ कारण होते हैं, ‘वैलेंटाइन-डे’ के भी हैं।

 

‘वैलेंटाइन’ किसी दिन का नाम नहीं है, यह नाम है एक पादरी p r i s t का, जो कि रोम में रहता था। उस वक्त रोम पर क्लॉडियस का शासन था, जिसकी इच्छा थी कि वह एक शक्तिशाली शासक बने, जिसके लिये उसे एक बहुत बड़ी सेना बनानी थी। उस शासक ने एक नियम बनाया, जिसके अनुसार उसने भविष्य में होने वाली सभी शादी पर प्रतिबंध लगवा दिया। यह बात किसी को ठीक नहीं लगी, पर उस शासक के सामने कोई कुछ नहीं कह पाया। यह बात पादरी वैलेंटाइन को भी ठीक नहीं लगी। एक दिन एक जोड़ा आया, जिसने शादी करने की इच्छा जाहिर की, तब पादरी वैलेंटाइन ने उनकी शादी चुपचाप एक कमरे में करवायी लेकिन उस शासक को पता चल गया और उसने पादरी वैलेंटाइन को कैद कर लिया और उसे मौत की सजा सुनायी गयी, पर जिस दिन उनको मौत की सजा दी, वह दिन 14 फ रवरी 269 ईसा पूर्व था।
                                                                                                   ‘कोयल की कुहू कुहू में है जो मिठास
                                                                                                    नदिया के जल में भी है खनकती आवाज
                                                                                                   ऐसा ही सुरीला होगा आपका आज’

यह जानना बेहद दिलचस्प है कि फू ल ज्योतिष से भी जुड़े हैं। हां, जिस फू ल को आप किसी को उपहार में दे रहे हैं वह व्यक्ति की राशि के माध्यम से पता लगाया जा सकता है। फूल को उसकी राशि के आधार पर किसी को उपहार में दिया जाना चाहिये। यह जन्म की तारीख है जो फू ल का फैसला करता है कि उसे कौन सा फू ल उपहार दिया जाना चाहिये।

मेष राशि : 21 मार्च से 20 अप्रैल

मेष राशि के लोगों के लिए ट्यूलिप उनके भाग्य का फू ल है। चरित्र से मजबूत और मजबूत, एरियन उच्च ऊर्जा और शक्ति के साथ पैदा होते हैं। वे सुपर आशावादी हैं फि र भी काफ ी आवेगी हैं। मेष राशि वाले गतिशील और मजबूत लोगों को अपनी राशि के अनुसार ट्यूलिप दिया जाना चाहिये। ट्यूलिप उनका फू ल है, उनमें नेतृत्व की गुणवत्ता के लिये।

वृषभ राशि: 21 अप्रैल से 21 मई

वृषभ राशि के उत्तम और गर्म दिल के लोग एक कलात्मक प्रवृत्ति के साथ पैदा होते हैं। वृषभ एक शांत संकेत है, जो धैर्य, दृढ़ता और विश्वसनीयता के लिये खड़ा है। वृषभ राशि के लोग बहुत सारे रंगों से घिरे रहना पसंद करते हैं। इसलिए उनके लिये फू ल लिली, गुलाबी गुलाब और लाल कार्नेशन हैं।

मिथुन राशि : 22 मई से 21 जून

यह जुड़वाँ जन्म चिन्ह जो लोगों की दयालुता को दर्शाता है सामाजिक प्राणी हैं। मिथुन राशि का स्वभाव हवा की तरह है। उनके दिमाग में जो कुछ भी है, हमेशा उनके होंठों पर होता है। वे राशि चक्र के फू लों से प्यार करते हैं जो ऑर्किड की सबसे अधिक
प्रशंसा करते हैं।

कर्क राशि: 22 जून से22 जुलाई

कर्क राशि के लोग स्वभाव से अत्यधिक उदार और संवेदनशील होते हैं। परिवार पहले आता है। वे सफेद गुलाब और लिली के साथ खिलते हैं।

सिंह राशि : 23 जुलाई से 22 अगस्त

सिंह राशि के सहज और रचनात्मक लोग एक उज्ज्वल, मजबूत और निडर व्यक्ति के रूप में पैदा होते हैं। सिंह एक शेर, प्रतिष्ठित, महत्वाकांक्षी और बोल्ड के सच्चे चित्रण हैं। सिंह राशि के लिये सबसे सार्थक फू ल जीवंत पीले जरबेरा, सूरजमुखी और मैरीगोल्ड हैं।

कन्या राशि: 23 अगस्त से 23 सितंबर

कन्या राशी वाले अपने तरीके से चीजों को संतुलित करना जानते हैं। मानव जाति की सेवा करने से उन्हें खुशी मिलती है और वे एक समग्र सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ एक स्थिर दिमाग रखते हैं। गुलाबी गुलाब कन्या राशि के लोगों के लिये खिलते हैं।

तुला राशि : 24 सितंबर से 23 अक्टूबर

तुला राशी वाले रोमांटिक ब्रिगेड होते हैं और अपने प्रेमियों का साथ पूरी तरह से महसूस करते हैं। उनमें भावनात्मक होने के चरम को प्रदर्शित करने की प्रवृत्ति होती है। उनके लिये सबसे अच्छा फू ल नीले रंग के फू ल और एस्टर हैं।

वृश्चिक राशि : 24 अक्टूबर से 22 नवंबर

ये मिस्टीरियसए इंटेंस स्कॉरपियन बहुत मजबूत लोग हैं। उनके साथ खिलवाड़ करना उतना अच्छा नहीं है क्योंकि वे मजबूत प्रतिद्वंद्वी साबित होते हैं लेकिन वे उतने ही मजबूत दोस्त भी हैं। वृशिक के लिए गुलदाउदी और चमकीले रंग इसे करीब लाते हैं।

धनु राशि: 23 नवंबर से 21 दिसंबर

धनु राशी वाले चुनौतीपूर्ण और कुछ नया करने के लिये तैयार हैं। अपने खुश मिजाज में वे बहुत आसान और सकारात्मक और साथ रहने के लिए मज़ेदार हैं। धनु राशी के लिए फू ल गुलाबी कार्नेशन्स और ऑर्किड हैं।

मकर राशि: 22 दिसंबर से 20 जनवरी

मकर राशि के गंभीर लोग जिद्दी मस्तिष्क से लैस होते हैं जो उन्हें कठिन लक्ष्य हासिल करने में मदद करता है। स्पष्ट लक्ष्य, महत्वाकांक्षी और कू्रर यथार्थवादी के साथ पैदा होने के लिये मकर राशि एक बहुत मजबूत है। उनके फू ल सफेद और गुलाबी गुलाब हैं।

कुंभ राशि: 21 जनवरी से 1 9 फरवरी

एक स्वतंत्र विचार और मुक्त आत्मा के स्वामी कुंभ राशि के एक्वेरियन मानवतावादी और नितांत आदर्शवादी हैं। कुंभ राशि के आश्चर्यजनक और रोमांस करने वालों को ऑर्किड के माध्यम से सुंदरता, प्रेम और शक्ति व्यक्त की जा सकती है। ऑर्किड कुंभ के लिये है जो उन्हें जिम्मेदारी और प्यार की भावना देता है।

मीन राशि : 20 फ रवरी से 20 मार्च

पानी की तरह शुद्ध और रेशम की तरह मुलायम, मीन राशी वाले हमेशा फालो करना पसंद करते हैं! स्वभाव से बिल्कुल निस्वार्थ, अत्यधिक आध्यात्मिक और स्वाभाविक रूप से केंद्रित, वे सबसे वफ ादार प्रेम साथी हैं। इस साल गुलाब को छोड़ दें और कुछ और अधिक अद्वितीय का चयन करें, जैसे वॉटर लिली! इस सहस्राब्दी की शुरुआत पर इंटरनेट लोकप्रियता की वृद्धि नयी परम्पराएँ पैदा कर रही है। हर साल लाखों लोग वैलेंटाइन दिवस की शुभकामना संदेशों को बनाने और भेजने के लिए डिजिटल तरीकों का इस्तेमाल करते हैं।

 

           प्रेम के बारे में कुछ और रोचक तथ्य

1-प्यार वाले डर को फि लोफ ोबिया कहा जाता है।

2- संस्कृत भाषा में प्यार के लिए कुल 96 शब्द हैं, उसके बाद प्राचीन फ़ारसी में 80 शब्द हैं, जबकि अंग्रेजी में केवल एक शब्द द्यश1द्ग ही है।

3- हम सब जानते हैं कि वेलेंटाइन-डे 14 फ रवरी को मनाया जाता है, लेकिन सबसे ज्यादा i love you  नवम्बर महीने में बोला जाता है।

4- प्यार के इजहार के लिए heart symbol का इस्तेमाल 1250 से हो रहा है।

5- ऐसा माना जाता है कि प्रेम विवाह की शुरुआत 18वीं सदी के समय में हुई थी।

6- दुनिया के लगभग 2 प्रतिशत जोड़े अपने पहले प्यार का इजहार किसी शॉपिंग मॉल या फि र किसी बाजार या बाग में करते हैं।

7- मनोविज्ञान के अनुसार अगर हम जिसे प्यार करते हैं, उसका आलिंगन करने पर nervous system उसी तरह प्रतिक्रिया करता है जैसे पेनकिलर ह्म्द्गड्डष्ह्ल करता हैं।

8- अगर दो प्यार करने वाले लगातार एक – दूसरे  की आँखों में तीन मिनट तक देखते रहते है तो उनके दिल की धडक़न एक समान हो जाती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *