Thu. Aug 6th, 2020

अब पुलिस के निशाने पर मुख्‍तार अंसारी गिरोह…

मऊ। योगी सरकार ने अपराधियो के विरुद्ध अभियान छेड़ दिया है। पूर्वांचल में मुख़्तार अंसारी के सिंडिकेट को तोड़ने की पूरी तैयारी है। मुख्‍तार अंसारी गिरोह आई एस 191 के विरुद्ध मऊ, गाजीपुर, आजमगढ़ सहित अन्य जनपदों में धुंआधार कार्रवाई हो रहा है। मऊ में पुलिस ने 55 ऐसे लोगो को चिह्नित किया है, जो रसूख वाले है। पुलिस एक-एक कर नामचीनो पर कार्रवाई करेगा। मऊ जनपद सहित अन्य जनपदों में मुख़्तार अंसारी का सिक्का चलता है। चाहे लोक निर्माण विभाग हो या जिला पंचायत, आरई एस। चाहे अवैध बूचड़खाना हो या मछली व्यवसाय। हर जगह मुख़्तार गिरोह का कब्ज़ा है।

प्रदेश सरकार द्वारा अपराधियों के खिलाफ अभियान छेड़े जाने के बाद मुख्‍तार गिरोह निशाने पर है। धडाधड गिरोह के शूटर जहां पकड़े जा रहे हैं, वहीं सिंडिकेट को तोड़ने में अमला जूटा है। मऊ में जहां गिरोह से जुड़े दर्जन भर लोगों को जेल भेज दिया गया है, तो मछली व बूचड़खाना व्यवसाय को बंद कर दिया गया है।

शासन के आदेश पर जिला प्रशासन ने मुख्तार अंसारी गिरोह के विरुद्ध अभियान छेड़ रखा है। गिरोह के लोगों द्वारा संचालित अवैध बूचडख़ाना, मछली व्यवसाय, अवैध वसूली आदि के विरुद्ध धड़ाधड़ कार्रवाई की जा रही है। आरोप है कि मुख्तार अंसारी गिरोह से जुड़े इदारतगंज मोहल्ला निवासी पारस सोनकर द्वारा मछली का कारोबार अवैध रूप से संचालित किया जा रहा था। बीते 20 जून को पुलिस ने छापा मारकर 10 लाख रुपये की मछली जब्त किया था। इस कार्रवाई के दौरान सोनकर समेत तीन लोगों को पुलिस ने जेल भेज दिया था। बाद में वह जमानत पर बाहर आ गया था।

इसके बाद पुलिस ने 29 जून को गैंगस्टर एक्ट में पाबंद कर दिया। तभी से वह कहीं फरार हो गया। उसे पकडऩे के लिए पुलिस उस के संभावित ठिकानों पर कई बार छापेमारी की परंतु माफिया पुलिस के हाथ नहीं लगा। इस पर पुलिस प्रशासन ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *