Thu. Aug 6th, 2020

आईएसआईए ने मार्च में 13 बार की भारतीय राजनयिकों को डराने-धमकाने की कोशिश

एएनआई,इस्लामाबाद

पाकिस्तान में एकबार फिर भारतीय राजनयिकों को परेशान करने का मामला सामने आया है। आईएसआईए के एक सदस्य ने इस्लामाबाद में दूतावास प्रभारी गौरव अहुलवालिया की कार का पीछा किया है। सूत्रों ने बताया कि आईएसआई ने अहुलवालिया को परेशान करने और डराने के लिए कार और बाइक पर अपने कई एजेंट्स लगा रखे हैं।इससे पहले मार्च में पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग ने अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को परेशान करने को लेकर पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के समक्ष विरोध जताया था।

एक जानकारी के मुताबिक, मार्च में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों और कर्मचारियों को 13 बार डराने और धमकाने की कोशिश की गई। भारत ने इस मामले पर आपत्ति जताते हुए पाकिस्तान से जांच कर कार्रवाई की मांग की थी। साथ ही यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा था कि आगे ऐसी घटना नहीं हो।

आपको बता दें कि उत्पीड़न की ऐसी घटनाएं 1961 के राजनयिक संबंधों पर वियना कन्वेंशन का स्पष्ट उल्लंघन है। भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों, कर्मचारियों और उनके परिवारों की सुरक्षा की जिम्मेदारी पाकिस्तान सरकार की है। 8 मार्च को पहले भारतीय सचिव को चांसरी से बैंक जाने के दौरान  पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी के द्वारा आक्रामक तरीके से टोका गया था। उसी दिन चांसरी से अपने घर जा रहे नेवल एडवाइजर को पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी के द्वारा डराने की कोशिश की गई। इतना ही नहीं, भारतीय अधिकारियों को वहां धमकी भरे कॉल भी आ रहे हैं।

नौ मार्च को एक मोटरसाइकिल पर पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी के कुछ कर्मियों द्वारा उप उच्चायुक्त को डराने की कोशिश की गई। अगले दिन फिर से मोटरसाइकिल से उप उच्चायुक्त का आक्रामक तरीके से पीछा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *