Tue. Feb 25th, 2020

इन 25 विधानसभा सीटों के परिणाम तय करेंगी दिल्ली में किसकी होगी सरकार

ब्यूरो

दिल्ली

दिल्ली की 25 विधानसभा ऐसी हैं जहां देर शाम तक मतदान हुआ। हैरानी की बात यह है कि इन विधानसभाओं में 12 से 14 फीसदी मतदान शाम 5 बजे के बाद हुआ। अब दिल्ली की चुनावी तस्वीर इन्हीं विधानसभाओं के 12 से 14 फीसदी मतदान से तय होगी। भाजपा का जो दावा सरकार बनाने का है वह इन्हीं वोट प्रतिशत से है। दिल्ली की ये वो विधानसभा सीटें हैं जहां पर पूर्वांचल के लोगों और भाजपा के परंपरागत वोटरों का दबदबा है।


दिल्ली मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय (सीईओ) से मिले आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली की 70 में से 10 विधानसभा क्षेत्रों में शाम 6 बजे के बाद  10 फीसदी तो 15 सीटों पर 5 फीसदी से ज्यादा हुई वोटिंग हुई है। बीते 8 फरवरी को सुबह मंद गति से शुरू हुआ मतदान दोपहर बाद गति पकड़ने लगा। यही वजह है कि 25 विधानसभाओं में देर रात तक मतदान जारी रहा। आंकड़ों के अनुसार जिन विधानसभाओं में देर रात तक वोटिंग हुई है उनमें शकूरबस्ती, बुराड़ी, उत्तम नगर, मटियाला और बल्लीमारान जैसी अहम सीटें हैं। इन सीटों पर आप बनाम भाजपा मुकाबला देखने को मिल रहा है। वैसे तो दिल्ली में सबसे ज्यादा मतदान बल्लीमारान में हुआ है, लेकिन शाम के बाद सबसे ज्यादा मतदान शकूरबस्ती विधानसभा में हुआ। शकूरबस्ती सीट पर वर्तमान स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन मैदान में हैं।

चुनाव कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देर रात तक मतदान होने के कारण सभी सीटों की जानकारी एकत्रित करने में काफी समय लगा था। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी रविवार को सोशल मीडिया पर लिखा था कि चुनाव आयोग के मोबाइल एप उनकी सीट पर करीब 49 फीसदी मतदान बता रहा है, जबकि उनके यहां 67 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ है। इस पर टिप्पणी करते हुए अधिकारी ने बताया कि बीते 8 फरवरी को सुबह 8 से शाम 6 बजे तक मतदान होना था, लेकिन शकूरबस्ती सीट पर लोग दोपहर बाद मतदान के लिए पोलिंग बूथों पर पहुंचे। यही वजह थी कि यहां शाम 5 बजे के बाद से लेकर रात तक 18.47 फीसदी मतदान हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *