Thu. Aug 6th, 2020

इशांत शर्मा ने अपना पहला वनडे मैच जहीर खान के जूते पहनकर खेला था

नई दिल्ली

भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने बल्लेबाजी लीजेंड राहुल द्रविड़ के साथ पहले वनडे में डेब्यू करते हुए उनके साथ हुए एक मजेदार किस्से को याद किया। उन्होंने बताया किस तरह उन्होंने अपना पहला वनडे मैच जहीर खान के जूते पहन कर खेला था। कोरोना वायरस की वजह से सभी क्रिकेट गतिविधियों पर ब्रेक लगा हुआ है। सभी क्रिकेट घर में परिवार के साथ वक्त बिता रहे हैं, लेकिन इसके साथ ही फैन्स के साथ जुड़े रहने के लिए सोशल मीडिया का सहारा भी ले रहे हैं। इसी कड़ी में क्रिकेटर्स आपस में ही एक-दूसरे के मजेदार इंटरव्यू भी ले रहे हैं। हाल ही में इशांत शर्मा और मयंक अग्रवाल ने एक वीडियो सेशल में कई मजेदार बातें शेयर कीं। इन दोनों के लाइव को बीसीसीआई ने अपने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल से शेयर किया है।

बीसीसीआई के शेयर किए गए इस वीडियो में मयंक अग्रवाल से बात करते हुए इशांत ने बताया, आयरलैंड में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में मेरा नाम शामिल नहीं था। मुझे इंग्लैंड टेस्ट के लिए चुना गया था। इंग्लैंड के लिए वनडे सीरीज में मेरा नाम नहीं था। उस समय मैं सिर्फ 17 साल का था। मैं घर पर आराम से बैठा था। मुझे कोई उम्मीद नहीं थी।उन्होंने कहा, मेरे पास एक फोन कॉल आई। मुझे आयरलैंड आने और वनडे खेलने के लिए कहा गया। वहां बहुत ज्यादा ठंड थी। आईसी मौसम था। महेंद सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, रोबिन उथप्पा और आरपी सिंह जैसे खिलाड़ी मौसम बदलने की वजह से बीमार हो गए थे। कम से कम 6-7 खिलाड़ी बीमार थे।

इशांत ने  बताया, मेरा लगेज आना था और मैं थोड़ा कन्फ्यूज था। आयरलैंड पहुंचने के बाद मैं अपने लगेज का इंतजार कर रहा था। मेरे मैनेजर ने बताया कि मैं सीधा अपने कमरे पर पहुंच जाऊं, लगेज वहीं पहुंच जाएगा। मुझे खुशी हुई क्योंकि रणजी मैचों में हमें अपना लगेज खुद कैरी करना पड़ता था।हर खिलाड़ी अभ्यास कर रहा था और मैं वहां खड़ा था। तभी राहुल द्रविड़ मेरे पास आए और कहा कि इशांत तुम गेंदबाजी क्यों नहीं रहे हो। मैंने कहा कि राहुल भाई मेरा बैग नहीं आया है। इस पर उन्होंने कहा कि इसका क्या मतलब है। मैंने फिर कहा कि मैंने फ्लाइट में अपना बैग रखा था। लेकिन मुझे अभी तक नहीं मिला है। राहुल भाई ने कहा कि तुम कल मैच कैसे खेलोगे। इसके बाद मैंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना पहला वनडे जहीर खान के शूज पहन कर खेला था।

बता दें कि इशांत का मानना है कि आस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतना किसी भी क्रिकेटर के लिए बड़ी बात है। उन्होंने साथ ही कहा कि वह इस टीम का हिस्सा बन काफी खुश हैं, जिसने ऑस्ट्रेलिया में इतिहास रचा। विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और चार टेस्ट मैचों की सीरीज अपने नाम की थी। इसी के साथ वह ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने वाली पहली एशियाई टीम बनी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *