Thu. Aug 6th, 2020

केजरीवाल जी, दिल्ली क्या सिर्फ मुस्लिमों के लिये है ?

रोमेश चतुर्वेदी

नई दिल्ली। दिल्ली की सत्ता पाने की चाहत हिन्दुस्तान के सभी राजनैतिक दलों का दिवास्वप्न होता है। राजनीति के धुरंधर माने जाने वाले माननीयों की सोच हमेशा से रही है कि एक बार केन्द्र में सत्ता हो तो फिर देश सुधारने की बातें करते-करते अपनों का भी सुधार कर लेंगे। फिर इसके लिये हिन्दु-मुस्लिम तुस्टीकरण कराना हो या फिर दंगा-फसाद …। जातिगत राजनीति का बढ़ावा देने की मानसिकता ने ही आज देश में हिन्दु-मुस्लिम सहित अन्य संप्रदायों के बीच जहर घोल दिया है। फिर दिल्ली सरकार, यानि ‘आप’, यानि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार इससे कैसे अछूती रहे। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के वेबसाइट पर नीचे के कॉलम में लिखा है कि(List Of Health Facilities In Areas With Predominance Of Muslim Population) मुस्लिम बहुल क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाएं…। सवाल यह है कि आखिर इस वेबसाइट पर सिर्फ मुस्लिम बहुल का ही जिक्र क्यों है ? हिन्दु,सिख,ईसाई सहित अन्य जातियों का जिक्र क्यों नहीं है ? क्या सरकार सिर्फ अल्पसंख्यकों के भरोसे बनी है ?

आखिर हेल्थ वेबसाइट पर मुस्लिम बहुल लिखकर स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन क्या दिखाना चाहते हैं कि सिर्फ आप पार्टी ही अल्पसंख्यकों की हितैषी है,अन्य बड़ी राजनैतिक पार्टियां दुश्मन हैं ? बात जो भी आप ने साबित कर दिया कि हिन्दु-मुस्लिम समुदाय के बीच दुश्मनी का मंजर पैदा करने और कराने के काम में इस पार्टी का कोई तोड़ नहीं है। देखना है केन्द्र में बैठी भाजपा सरकार के माननीय इस मुददे पर चुप्पी साधते हैं या फिर होते हैं मुखर…

‘आप’ पार्टी की दिल्ली सरकार के स्वास्थ और परिवार कल्याण विभाग के वेबसाइट के जिस पेज पर विभाग के मंत्री सतेंद्र जैन का चेहरा चमक रहा है, उसी पेज पर एक लिंक दिया है। मुस्लिम बहुल क्षेत्र में स्वास्थ सुविधाएं…। जब आपकी निगाहें इस लिंक पर जायेगी तो बरबस आप खोजने लगेंगे कि आखिर सिख,ईसाई या हिन्दुओं के बारे में इस तरह की जानकारी कहां है? और अगर नहीं है, तो इस अलग से लिंक को लगाने की आवश्यकता ही क्या थी…।

दरअसल, ये हमारे मौजूदा राजनीति का बेहद क्रूर और स्वार्थी चेहरा है। आप उस लिंक को खोलते हैं तो वहां किसी अलग सुविधा का कोई जिक्र नहीं है। है तो बस मुस्लिम बहुल क्षेत्र में स्थित सामान्य और सबको सुलभ अस्पतालों की लिस्ट। आखिर ‘आप’ सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के वेबसाइट पर इस लिंक को क्यों डाला ? स्वास्थ्य मंत्री इसे लिखकर क्या जताना चाहते हैं ? सतेन्द्र जैन जी, जन सामान्य की जानकारी के लिये बने इस वेबसाइट में किसी समुदाय विशेष के तुष्टिकरण की इस झूठी कोशिश से आप बाजीगरी तो कर सकते हैं पर भला उस समुदाय विशेष का भी नहीं होगा…। ऐसी विभाजनकारी सोच समाज की समरसता के लिये भी घातक है।

दिल्ली की जनता का सवाल है कि 2017 में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग का यह वेबसाइट बना है। सतेन्द्र जैन का फोटो भी लगा है। योजनाओं पर किसी ने कमेंट नहीं किया लेकिन सभी का सवाल एक है कि आखिर इस वेबसाइट पर मुस्लिम बहुल क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधायें… क्यों बोल्ड हेडिंग में नीचे लिखा गया है…सवाल यह भी है कि यदि वेबसाइट में कोई परिवर्तन किया गया है तो अभी तक आप सरकार द्वारा वर्ष 2017 की योजनायें क्यों दिखायी जा रही है? एक तरह से,सरकार के अफसरानों की घोर लापरवाही भी दिखायी दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *