Tue. Dec 1st, 2020

खबर का असर: योगीराज में चलेगा जीरो टॉलरेंस,जो नहीं मानेगा होगा बर्खास्त,बुलंदशहर के कमांडेंट को किया बर्खास्त

मुख्यमंत्री योगी का कहर :बुलंदशहर के भ्रष्ट कमांडेंट मुकेश कुमार को किया बर्खास्त

मुख्यालय के आकाओं ने निलंबित मुकेश को यहां अटैच कर रखा था लेकिन नहीं कामयाब हुयी चाल

द संडे व्यूज़ ने कमांडेंट मुकेश द्वारा वसूली की रुपये को गिनते वीडियो को किया था वायरल

होमगार्डों की ड्यूटी के लिए घूस लेते वीडियो हुआ था वायरल

संजय पुरबिया

लखनऊ। राष्ट्रीय साप्ताहिक समाचार पत्र द संडे व्यूज़,वेब न्यूज़ चैनल एवं इंडियाएक्सप्रेसन्यूज़डॉटकॉम ने नवंबर माह में बुलंदशहर के कमांडेंट मुकेश कुमार द्वारा अपने ही कार्यालय में बैैठकर कर्मचारियों से नोटों की गड्डी गिन रहे थे। नोटों की गड्डी होमगार्डों की ड्यूटी लगाने के एवज में की गयी वसूली की रकम थी। द संडे व्यूज़ में वीडियो का खुलासा होने के बाद शासन से लेकर विभाग में हडक़म्प मच गया। मैंने इस स्टोरी को एचएनएन न्यूज चैनल में भी चलाया था,उस समय मैं वहां नौकरी कर रहा था। खबर प्रकाशित होने के बाद जांच बिठा दी गयी। जांच आगरा के डीआईजी संतोष कुमार सुचारी को सौंपी गयी। उन्होंने उसे दोषी पाया और मुकेश कुमार को निलंबित कर दिया गया। जांच चलती रही और लैब टेस्ट में भी वीडियो सही पाये जाने पर आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आक्रामक तेवर अपनाते हुये मुकेश कुमार को बर्खास्त कर दिया। बता दें कि होमगार्ड विभाग इस समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास ही है। योगी के एक्शन से इस विभाग में बैठे महाभ्रष्ट अफसरों की नींद उड़ गयी है। एक बात तो तय है कि सीएम तक होमगार्ड विभाग के भ्रष्टï अफसरों की कारस्तानी पहुंच जाये,तो समझिये की आधा विभाग खाली हो जायेगा।

भ्रष्ट आचरण के विरुद्ध सख्त रुख अपनाते हुये जीरो टॉलरेंस की नीति के अनुरूप मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आर्थिक  भ्रष्टाचार के दोषी मुकेश कुमार, तत्कालीन जिला कमांडेंट, होमगार्ड विभाग, बुलंदशहर को सेवा से पदच्युत करने का आदेश दिया है। बीते नवंबर में मुकेश को लेकर द संडे व्यूज़ पर तीन वीडियो वायरल हुये थे। वायरल वीडियो में मुकेश होमगार्ड स्वयंसेवकों की विभिन्न प्रकार की ड्यूटी हेतु रुपये लेकर अपने जेब मे रखते हुये दिख रहे थे। वीडियो क्लिप में हो रही वार्ता में यह साफ  था कि यह रुपये जिला कमांडेंट द्वारा होमगार्ड को ड्यूटी के लिये लिये जा रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए शासन ने तत्काल इसकी पड़ताल करायी।

प्रारंभिक जांच डिप्टी कमांडेंट जनरल होमगार्ड, आगरा संतोष सुचारी के स्तर से हुयी, जिनकी रिपोर्ट के आधार पर आरोपित मुकेश को निलंबित कर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी गयी थी। वहीं विस्तृत जांच के लिये विवेक कुमार सिंह,डीआईजी, केंद्रीय प्रशिक्षण संस्थान, लखनऊ को जांच अधिकारी बनाया गया। इस जांच में भी जिला कमांडेंट मुकेश के खिलाफ  सभी आरोप सही पाये गये। हालांकि, आरोपित मुकेश ने वीडियो को कूटरचित बताते हुये खुद को निर्दोष बताया था। वीडियो का परीक्षण विधि विज्ञान प्रयोगशाला, लखनऊ में कराया गया, जहां तीनों वीडियो क्लिप में किसी तरह की छेड़छाड़ की पुष्टि नहीं हुयी। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निलंबित जिला कमांडेंट को सेवा से बर्खास्त  करने का आदेश दे दिया है।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *