Wed. Oct 21st, 2020

खाकी वर्दी में ‘इंसानियत के बादशाह’ हैं सीओ चंद्रपाल सिंह

आजतक के रिपोर्टर साबिर शेख को है कैंसर, आर्थिक मदद से उनके परिवार को मिली बड़ी राहत

शेखर यादव
इटावा। इंसानियत शब्द रिश्तों के मर्म और उनके अहसास को बयां करता है। यही वजह है कि जाति व संप्रदाय के बीच नफरत की बीज बोने वालों की भले ही संख्या बहुतायत हो लेकिन इंसानियत की राह दिखाने और उन पर अमल करने वालों की गिनती भर की संख्या सबपे भारी पड़ जाती है। यही वजह है कि आज भी इंसानियत जिंदा है और जिंंदादिली को दिखाने वालों को ही इंसानियत का बादशाह कहा जाता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं इटावा में ही पडऩे वाले भरथना थाने में तैनात सीओ चंद्रपाल सिंह की। उन्हें मालूूम चला कि आज तक न्यूज चैनल के रिपोर्टर साबिर शेख कैंसर से पीडि़त हैं। वे उनके घर गये और भावनात्मक,आत्मीयता का परिचय देने के बाद चलते वक्त परिजनों को एक लाख 40 हजार रुपये इलाज के लिये दिये। खाकी का ये रंग देख परिजनों की आंखों से आंसू छलक पड़े। बात पूरे इटावा में फैली,फिर तो सीओ की इंसानियत की कसीदें लोग गढऩे लगे और दुवाओं की बारिश होने लगी। बता दें कि ये वही सीओ चंद्रपाल सिंह हैं,जिन्होंने रक्षाबंधन पर एक गरीब टायर पंचर बनाने वाले की बेटी से राखी बंधवाया था।


भरथना के सीओ चंद्रपाल सिंह आप वास्तव में इंसानियत के बादशाह हैं । रक्षाबंधन के पावन पर्व पर आपने एक गरीब टायर का पंचर लगाने वाले की बेटी से राखी बंधवा कर वर्दी का मान बढ़ाया था। अब आपने इस बार एक कैंसर पीडि़त पत्रकार की मदद कर यूपी में हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे की मिसाल कायम कर दी। इटावा के आज तक न्यूज चैनल के पत्रकार साबिर शेख कैंसर से पीडि़त हैं। रिपोर्टर साबिर शेख के लिये चंद्रपाल सिंह ने घर जाकर 1.40 लाख ही आर्थिक मदद की। इटावा के हर व्यक्ति की जुबां पर आज यही चर्चा है कि पुलिस अधिकारी का यह भी रुप होता है, पहली बार देखा…। पत्रकार साबिर शेख का इलाज लखनऊ के मेदांता अस्पताल में चल रहा है। इस समय साबिर शेख की 6 कीमोथेरेपी होनी है, जिसमें से 4 कीमो हो चुकी है। इलाज में  काफी रुपए लग चुके हैं। ऐसे में साबिर शेख की 2 कीमोथेरेपी के लिये सीओ भरथना चंद्रपाल सिंह ने 1 लाख 40 हजार रुपए की आर्थिक मदद उनके घर पक्का तालाब चौराहे के पास जाकर दी।

मेदांता हॉस्पिटल, लखनऊ में साबिर शेख की कीमो थेरेपी का खर्च 70 हजार रुपए आ रहा है। इसके अलावा भी अन्य खर्चों की वजह से साबिर शेख की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है। सीओ भरथना की तरफ से की गई मदद ने साबिर शेख को राहत पहुंचायी है। सीओ, भरथना के इस सराहनीय कदम की हर तरफ जमकर प्रशंसा की जा रही है। चंद्रपाल सिंह कोरोना काल में भी गरीबों का सहारा बने और उनकी आर्थिक मदद की। यही वजह है कि लोग ढेरों दुआयें दे रहे हैं। सीओ के सराहनीय कार्य के लिये द संडे व्यूज़ परिवार सैल्यूट करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *