Tue. Sep 17th, 2019

न हों निराश, खुल जाएंगे सफलता के मार्ग

आपका भाग्य भी उसके साथ चला जाता है। घर में सुबह-और शाम गाय के गोबर से निर्मित कण्डा जलाकर उस पर चावल में घी मिलाकर डालना चाहिए। इससे उन्नति का आगमन होता है। घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाएं और जिन पौधों में कांटे उगते हैं, उन्हें कभी घर के अंदर ना लगाएं। इससे अशांति उत्पन्न होती है। घर में टूटी-फूटी मशीनों को न रखें। घर में कभी झाड़ू को खड़ी करके नहीं रखना चाहिए। घर के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में कोई भी पालतू जानवर न बांधें। पैसे जहां रखते हों वहां एक दर्पण लगाएं। अपने बैठने की जगह के पीछे पहाड़ या दौड़ते हुए घोड़े का चित्र लगाएं।

रसोई के अंदर प्रवेश करने से पहले चप्पल उतार देनी चाहिए। कभी भी दूध को खुला नहीं रखना चाहिए। इसे जाली से ढंककर रखें। घर की तिजोरी के आसपास जूते-चप्पल लेकर ना जाएं। जिस घर में टूटी-फूटी मूर्तियां और टूटे फूटे सामान होते हैं, वहां सुख नहीं होता है। शाम के समय घर में कभी अंधेरा नहीं रखना चाहिए। माना जाता है कि गोधूलि बेला में घर में भगवान आते हैं। यदि घर में प्रकाश न हो तो वो लौट जाते हैं। घर में सकारत्मक ऊर्जा के लिए रोजाना शंख बजाना चाहिए। इससे घर में कभी भी धन की कमी नहीं रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *