Mon. Jan 18th, 2021

बदायूं रेप कांड: मंदिर में लुट रही महिला की अस्मत,कहां हैं कानून के रखवाले: धर्मेन्द्र यादव

बदायूं रेप कांड: यूपी में अब महिलाएं नहीं महफूज, बेखौफ अपराधी बरपा रहे हैं कहर

जब-जब बदायूं  में अत्याचार हुआ,अवाम के साथ खड़े मिले पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव

बदायूं की पीडि़ता का केस मैं फ्री लडूंगी: सीमा कुशवाहा

शेखर यादव

इटावा। उत्तर प्रदेश में रामराज्य है या माफिया राज? ये सवाल कुछ दिनों तक सूबे में सुर्खियों में रहा और अवाम अपराधियों से जहां भयाक्रांत थें वहीं दबंग बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम देते रहें। लेकिन अब महिलाएं बदायूं की घटना के बाद इस कदर डरी हैं कि सभी यही कह रही हैं कि अब तो मंदिर भी महिलाओं के लिये सुरक्षित नहीं रहा। आखिर किस बात पर सरकार दावा करती है कि यूपी में रामराज्य है…। बदायूं में जिस तरह से महंत और उसके दो पुजारियों ने एक महिला के साथ रेप करने के बाद उसकी जघन्य हत्या की,उससे पूरा देश शर्मसार है। अब सवाल सरकार के दावे और ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था पर उठने लगी है। यही वजह है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा का एक प्रतिनिधि मंडल पीडि़ता के परिवार से मिलने के लिये बदायूं पहुंचा। सपा के प्रतिनिधि मंडल में पूर्व सांसद धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि वे पूरी तरह से यहां की जनता के साथ खड़े रहेंगे। कहा कि जब-जब बदायूं पर अत्याचार हुआ है,चाहें मैं सत्ता में रहा या विपक्ष में,हमेशा अवाम के साथ खड़ा रहा। जहां वे इस घटना की सीबीआई जांच की मांग की वहीं निर्भया कांड की अधिवक्ता सीमा कुशवाहा ने पुलिसिया सिस्टम पर जमकर प्रहार करते हुये कहा कि मैं बदायूं पीडि़ता का केस फ्री में लडूंगी। द संडे व्यूज़ परिवार सीमा कुशवाहा को सैल्यूट करता है।

बदायूं में पीडि़ता के आवास पर जाने वालों में धर्मेन्द्र यादव के साथ एमएलसी राजपाल कश्यप, एमएल, ओंकार यादव, इंजी. अगम मौर्य समेत कई अन्य नेता शामिल थे। उन्होंने पीडि़ता के परिवार से बात की और हर संभव मदद का भरोसा दिया। परिजनों से मुलाकात के बाद अब सपा का प्रतिनिधिमंडल इस घटना की रिपोर्ट समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को सौंपेगा।बदायूं जिले में एक महिला की कथित तौर पर बलात्कार के बाद हत्या किये जाने के मामले में मंदिर के महंत समेत तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

बता दें कि पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि पुजारी की तलाश की जा रही है। पुलिस ने कहा कि जब महिला मंदिर में पूजा अर्चना करने जा रही थी तभी मंदिर के पुजारी सत्यानंद और उसके दो सहायक वेदराम और यशपाल ने उस पर हमला कर दिया। मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं करने पर एक एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है। बदायूं के पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने इस घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पुलिस पर मुझे भरोसा नहीं है इस घटना की सीबीआई जांच होनी चाहिये।

वही निर्भया केस की प्रसिद्ध अधिवक्ता सीमा कुशवाहा ने द संडे व्यूज को बताया कि वह इस घटना से बहुत ही आहत हैं । उन्होंने कहा आखिर इस देश में महिलाओं के ऊपर अपराध कब तक होते रहेंगे। उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाया और पुलिस की घटिया कार्यशैली की आलोचना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *