Tue. Dec 1st, 2020

बिहार चुनाव : हमारी सरकार बनी, तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सलाखों के पीछे होंगे-चिराग

बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन’ लॉन्च 

सीतामढ़ी ।  बिहार विधानसभा चुनाव जीतने के लिए राजनीतिक पार्टियां एक से बढ़कर एक घोषणाएं कर रहीं हैं। इस बीच लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को अयोध्या में बन रहे राम मंदिर की तर्ज पर सीतामढ़ी में भव्य सीता मंदिर बनाने की घोषणा की है। वहीं चिराग पासवान ने रविवार को एक रैली में दावा किया कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सलाखों के पीछे होंगे। कहा कि अगर उनकी सरकार बनी, तो वह बिहार के सीतामढ़ी जिले में अयोध्या के राम मंदिर से बड़ा सीता मंदिर बनवाएंगे। राम मंदिर को सीता मंदिर से जोड़ने के लिए एक कॉरिडोर भी बनाया जाना चाहिए।

चिराग पासवान इन दिनों चुनाव प्रचार के लिए सीतामढ़ी में हैं। उन्होंने पुनौरा धाम मंदिर जाकर जानकी माता की पूजा की। पूजा-अर्चना के बाद मीडिया से बात करते हुए चिराग पासवान ने कहा, मैं यहां पर एक भव्य सीता मंदिर बनवाऊंगा, जो अयोध्या के राममंदिर से भी बड़ा होगा। सीता के बिना भगवान राम अधूरे हैं और राम के बिना सीता। इसलिए एक कॉरिडोर बनवाया जाएगा, जो सीतामढ़ी को अयोध्या से जोड़ेगा।इस दौरान, एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने अपने ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन’ डॉक्युमेंट को लॉन्च किया, जिसमें बिहार की कई समस्याओं का समाधान था। उन्होंने कहा कि बिहार में कई महान दिव्य शक्तियों का जन्म हुआ, लेकिन दुर्भाग्य ऐसा रहा है कि किसी ने भी राज्य की धरोहर को बचाने का प्रयास नहीं किया। सीता मंदिर बनने से प्रदेश सरकार का राजस्व भी बढ़ेगा और सीतामढ़ी में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। चिराग ने कहा कि बिहार में जो भी दिव्य शक्तियां रही हैं, उन सबको धार्मिक पर्यटन से जोड़ा जाना चाहिए।

चिराग पासवान ने रविवार को एक रैली में दावा किया कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सलाखों के पीछे होंगे। चिराग ने कहा, अगर हम सत्ता में आते हैं, तो नीतीश कुमार और उनके अधिकारी सलाखों के पीछे होंगे।  बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में अपने प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार करने के लिए चिराग पासवान रविवार को बक्सर के डुमरांव पहुंचे थे। यहां पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए चिराग ने नीतीश सरकार पर कई सवाल उठाए।चिराग ने कहा, ‘जो मुख्यमंत्री भ्रष्टाचारी हो, जो मुख्यमंत्री युवा विरोधी हो, जो मुख्यमंत्री बिहार को बर्बाद कर दे, जो मुख्यमंत्री युवाओं को पलायन के लिए मजबूर करे। क्या ऐसे मुख्यमंत्री को पद पर बने रहना चाहिए क्या ? उसको बदलना चाहिए कि नहीं बदलना चाहिए ?

बता दें कि इससे पहले चिराग पासवान ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से नीतीश कुमार के विरोध में ट्वीट किया था। चिराग ने अपने समर्थकों से अपील करते हुए कहा, आप सभी से अनुरोध है कि जहां भी एलजेपी के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं, उन सभी स्थानों पर ‘बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट’ को लागू करने के लिए एलजेपी के प्रत्याशियों को वोट दें। जबकि अन्य स्थानों पर भारतीय जनता पार्टी के साथियों को वोट दें।आने वाली सरकार नीतीशमुक्त सरकार बनेगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *