Tue. Sep 29th, 2020

यूपी की सियासत में प्रियंका की आक्रामक रणनीति से कांग्रेसियों का जोश उबाल पर

संजय पुरबिया
लखनऊ। यूपी में सियासत की गर्मी इस समय शीतलहरी पर भारी पड़ रही है। भाजपा की नीति और कड़े तेवर से जहां राष्ट्रीय स्तर की कई पार्टियां खामोश हैं वहीं कांग्रेस फुल एक्शन मोड में है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने जिस तरह से बेखौफ होकर भाजपा पर हमला बोल रही है उससे कांग्रेसी जोश से लवरेज हैं। चाहें उत्तर प्रदेश हो या उत्तराखंड कांग्रेसी अब सरकार के आर-पार की लड़ाई के मूड में दिख रहे हैं। देखा जाये तो प्रियंका गांधी धीरे-धीरे सुतुप्ता अवस्था के दौर में चली गयी कांग्रेस में नई जान फूंकने में कामयाब होती दिख रही है जो भाजपा सहित अन्य दलों के लिए बेचैनी का सबब है। प्रियंका वाड्रा ने जिस तरह मेरठ में अफसर के बेतुके बयान पर टवीटर पर मुखर हैं वहीं लखनऊ में पार्टी कार्यालय पर आयोजित 135वां स्थापना दिवस पर सीधे तौर पर सपा और बसपा को भयाक्रांत बताते हुये कहा कि कांग्रेस पार्टी दमनकारी विचारधारा वाली पार्टी से अकेले टक्कर लेने का दम रखती है।

कांग्रेसियों को संघर्ष की चुनौती स्वीकार है। प्रियंका की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की पार्टी कार्यालय में मौजूद हजारों की संख्या में कांग्रेसी प्रियंका गांधी संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं,के जयकारे से गुंजायमान रहा। सीधी बात कहें तो यूपी की सियासत में नये साल में भाजपा के लिए कांग्रेस यानि प्रियंका गांधी बड़ी टक्कर देते दिख रही हैं।

सूबे में शीतलहरी का प्रकोप जारी है लेकिन आज सुबह से ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की एक झलक पाने और उनके आक्रामक शब्दों को सुनने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ-साथ अवाम का हुजुम उमड़ पड़ा था। प्रियंका गांधी ने सीधे तौर पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी पर हमला किया। उन्होंने कहा कि दूसरी पार्टियां सरकार से डर रही हैं, वह कुछ नहीं कह रही हैं। कांग्रेस को संघर्ष की चुनौती स्वीकार है और हमलोगों का टक्कर दमनकारी विचारधारा से है। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के दिल में ना तो भय है और ना ही हिंसा।


उन्होंने पूरी बेबाकी से कहा कि संविधान पर हमला करने वालो का हमलोग विरोध करेंगे। भाजपा राज में आज देशभक्ति के नाम पर लोगों को डराया जा रहा है। सीएए और एनआरसी का खौफ पैदा किया जा रहा है। आखिर ये कैसी सरकार है जिसमें लड़कियों में डर का माहौल है। आज देश में संकट में हैं। सरकार आज छात्रों की आवाज को दबा रही है। डराने वाला मुंह बंद करने की कोशिश करता है।भाजपा पर हमला बोलते हुये उन्होंने कहा कि झूठ से देश ऊब चुका है और कायरता को देश पहचान रहा है। आवाज उठाने पर बच्चों को मार रहे हैं। इतना ही नहीं, वाराणसी में अतिकुपोषित बच्ची आराधना की मौत पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि भाजपा शासित यूपी में बच्चों को मिड डे मील में बेकार खाना दिया जाता है। बच्चे ठंड में ठिठुर रहे हैं, पर स्वेटर नहीं मिले। कुपोषण के चलते बच्चों की जान जा रही है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मेरठ में अफ सर का वीडियो ट्वीट कर भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा है कि भाजपा ने संस्थाओं में इस कदर साम्प्रदायिक जहर घोला है कि आज अफ सरों को संविधान की कसम की कोई कद्र ही नहीं है।शनिवार को प्रियंका गांधी ने मेरठ में अफ सर का वीडियो ट्वीट कर लिखा कि भारत का संविधान किसी भी नागरिक के साथ इस भाषा के प्रयोग की इजाजत नहीं देता और जब आप अहम पद पर बैठे अधिकारी हैं तब तो जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। उन्होंने आगे लिखा कि भाजपा ने संस्थाओं में इस कदर साम्प्रदायिक जहर घोला है कि आज अफ सरों को संविधान की कसम की कोई कद्र ही नहीं है।

20 दिसंबर को मेरठ शहर में हुए उपद्रव के बाद सोशल मीडिया पर एक अफ सर का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो एक मिनट 43 सेकेंड का है। अफसर के हाथ में डंडा और हेलमेट है। बॉडी प्रोटेक्टर जैकेट पहनकर गली में जाते दिखाई पड़ रहे हैं। वह मोबाइल से वीडियो बनाते हुए गली में वापस मुड़ते हैं। एक समुदाय के लोगों से कहते हैं कि जो हो रहा है वह ठीक नहीं है। इस पर वहां खड़ा एक व्यक्ति कहता है कि जो लोग माहौल बिगाड़ रहे हैं, वह गलत हैं। इस पर अफ सर कहते हैं कि उनको कह दो वह दूसरे मुल्क चले जाएं। कोई गलत बात मंजूर नहीं होगी।

इस दौरान उन्होंने कहा कि यह गली मुझे याद हो गई है। जो एक बार याद कर लेता हूं तो उसे भूलता नहीं हूं। एक- एक आदमी को जेल भेज दूंगा। सुन लिया न। इसके बाद वह फ ोर्स के साथ चले जाते हैं। प्रियंका गांधी की आक्रामकता को देख मानों कांग्रेसियों में नई जान आ गयी हो। यूपी के साथ-साथ अन्य राज्यों में भी अब कांग्रेसी सडक़ों पर उतर आये हैं। उन्हें नहीं गम पुलिस की लाठियों की और ना ही डर सत्ता की। देहरादून में शनिवार को संविधान बचाओ, देश बचाओ रैली निकाली गई। जिसमें उत्तराखंड कांग्रेस ने शक्ति प्रदर्शन किया।

रैली में कांग्रेस दिग्गज नेता और सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। यह मार्च देहरादून स्थित कांग्रेस भवन से शुरू हुआ जिसमें केंद्र सरकार को नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर को लेकर हमला बोला। वहीं सीएए को काला कानून बताया गया। इस रैली में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *