Tue. Feb 25th, 2020

यूपी में सवा सौ से अधिक विधायक दागी

योगी मंत्रिमंडल में 20 मंत्रियों के दामन पर है दाग
लखनऊ
यूपी विधानसभा में 143 ऐसे विधायक हैं जिनपर आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। इसमें 101 विधायकों पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज हैं। जिसमें हत्या, हत्या के प्रयास, छेड़छाड़ और धोखाधड़ी के मामले दर्ज हैं।एडीआर  के आंकड़ों के मुताबिक यूपी विधानसभा में बीजेपी के 83, समाजवादी पार्टी के 11, बसपा के चार और कांग्रेस के एक विधायक के अलावा 3 अन्य विधायकों पर गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज है।

एडीआर यूपी के संयोजक संजय सिंह बताते हैं कि न्यायालय के निर्देश पर पूर्व में भी आपराधिक छवि के उम्मीदवारों को प्रतिष्ठित अखबारों में विज्ञापन छापने, राजनैतिक दलों की वेबसाइट पर अपलोड कराने जैसे निर्देश दिए थे। इसकी निगरानी के लिए जिला स्तर पर जिलाधिकारियों को जिम्मेदारी भी दी गई थी, लेकिन अधिकतर उम्मीदवारों और राजनैतिक दलों ने इसका पालन ही नहीं किया।

मौजूदा विधानसभा में 8 विधायक ऐसे हैं जिनपर हत्या का मुकदमा चल रहा है जबकि 34 विधायकों पर हत्या के प्रयास का मुकदमा चल रहा है। एक विधायक महिला से छेड़-छाड़ केआरोपी हैं और 58 विधायकों के खिलाफ अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है।एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक योगी सरकार में 20 मंत्रियों के दामन पर दाग है। इसमें सबसे ऊपर हैं प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जिन पर हत्या, धोखाधड़ी और सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने समेत कुल 11 आपराधिक मामले दर्ज हैं। दूसरे नंबर पर इलाहाबाद से चुनाव जीते कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी हैं जिन पर धोखाधड़ी, आर्थिक अपराध व डकैती के सात मुकदमे दर्ज हैं।

मौजूदा विधानसभा में 8 विधायक ऐसे हैं जिनपर हत्या का मुकदमा चल रहा है जबकि 34 विधायकों पर हत्या के प्रयास का मुकदमा चल रहा है। एक विधायक महिला से छेड़छाड़ केआरोपी हैं और 58 विधायकों के खिलाफ अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है। इनमें 20 मंत्री भी शामिल हैं। मुख्तार अंसारी, ब्रजेश सिंह, राजा भैया, सुशील सिंह, विजय मिश्रा समेत कई बाहुबली इस समय विधायक हैं। मुख्तार और विजय मिश्र पर 16-16 मुकदमे दर्ज हैं। धौलाना के बसपा विधायक असलम अली पर 10 मामले दर्ज हैं। विधायक कुलदीप सिंह सेंगर उम्रकैद की सजा पा चुका है लेकिन विधायक बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *