Mon. Dec 16th, 2019

राजधानी के इंग्लिश मीडियम स्कूल में ‘other fees’ के नाम पर पैरेंटस से हो रही है लूट

स्कूल प्रबंधन जुलाई के बाद से ‘other fees’  के नाम पर करोड़ों रुपए कर चुका है अंदर

पैरेंटस पूछते हैं तो कोई नहीं देता जवाब,कर्मचारियों की मुस्कराहट बताती है कि हमसबको लूटा जा रहा है…

शेखर यादव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार भले ही बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने के हवाई दावे करे लेकिन सच्चाई यह है कि इंग्लिश मीडियम स्कूलों के प्रबंधक अपनी मनमर्जी कर रहे हैं। इन स्कूलों के प्रबंधकों को इस बात का रत्तीभर डर नहीं है कि ‘other fees’ के नाम पर पैरेंटस के जेब पर डाका डाल रहे हैं, इस बात को यदि सरकार गंभीरता से लेगी तो उनकी नींद उड़ जाएगी। बात जो भी हो इंग्लिश मीडियम स्कूल के प्रबंधकों ने साबित कर दिया कि सरकार उनकी जेब में है,पैरेंटस को जितना चाहे लूट लो…।


बताया जाता है कि माह जुलाई से बच्चों के फीस की रसीद में सभी मद के अलावा ‘other fees’ के नाम पर 1000 रुपए से लेकर 1500 रुपए प्रतिमाह वसूली जारी है। एक-दो माह बाद जब बच्चों के घरवाले फीस जमा करते वक्त ‘other fees’ के बारे में फीस काउंटर पर बैठे कर्मचारियों से बात की तो कोई जवाब नहीं मिला । वे  मुस्करा देते हैं और प्रिंसपल से बात करने की नसीहत भी देते हैं।

‘other fees’ को लेकर कई बार फीस काउंटर पर कर्मचारियों और पैरेंटस के बीच तकरार की नौबत भी आ चुकी है। स्कूल प्रबंधन के लोगों का भी कहना है कि समझ में नहीं आता कि आखिर ‘other fees’ का मतलब क्या है? ये रकम आखिर किस लिए लिए जा रहे हैं और उसका क्या किया जाएगा। बात जो भी सरकार के दावों की इंग्लिश मीडियम के प्रबंधकों ने धज्जियां उड़ाकर रख दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *