Tue. Sep 17th, 2019

स्मारक नकली अंगूठे से हाजिरी लगाने वाले कर्मचारी बर्खास्त होंगे- एलडीए वीसी

स्मारक के बड़े अफसर भी शामिल

संबंधित कंपनी को भेजा नोटिस

एफआईआर दर्ज कराई जाएगी और नौकरी से बर्खास्त भी किया जाएगा-एलडीए वीसी पीएन

लखनऊ। स्मारक कर्मचारियों ने बायोमीट्रिक सिस्टम को फेल कर दिया है । अधिकारियों से मिलीभगत कर नकली अंगूठे से अटेंडेंस लगवा रहे हैं और खुद घर पर मौज कर रहे हैं। गोपनीय शिकायत के बाद शनिवार को शुरुआती जांच में ऐसे तीन कर्मचारी पकड़े गए जो नकली अंगूठे से हाजिरी लगवा रहे थे। यह आंकड़ा और बढ़ेगा क्योंकि करीब दर्जन भर संदिग्ध कर्मचारियों से पूछताछ चल रही है। जांच के बाद नकली अंगूठे से हाजिरी लगाने वाले और लगवाने वाले कर्मचारियों-अधिकारियों पर नौकरी से बर्खास्त किए जाने से लेकर एफआईआर दर्ज कराने तक की कार्रवाई किए जाने की तैयारी है।

बसपा शासन में बनवाए गए स्मारकों के रखरखाव के लिए अलग-अलग वर्ग के करीब 5400 कर्मचारी नियुक्ति हैं। कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए स्मारकों में बायोमीट्रिक सिस्टम लगा है मगर कर्मचारियों ने उसको फेल कर दिया है। बहुत से कर्मचारियों ने यहां नकली अंगूठे बनवा लिए और उनके जरिए वह बिना आए ही दूसरों को पैसा देकर बायोमीट्रिक अटेंडेंस लगवा रहे हैं। करीब दस दिन पहले कांशीराम इको गार्डेन में धीरेंद्र श्रीवास्तव नामक एक कर्मचारी नकली अंगूठे से हाजिरी लगाते पकड़ा गया था। यह काम बड़े पैमाने पर हो रहा है।

इसकी शिकायत एलडीए वीसी को मिली। गोपनीय शिकायत करने वालों ने एक वीडियो भी वीसी को भेजा। इसके बाद जांच शुुरू हुई तो शनिवार को कांशीराम स्मारक के तीन कर्मचारी पकड़े गए। यह कौन कर्मचारी हैं, इनका खुलासा तो एलडीए वीसी ने नहीं किया मगर सूत्रों का कहना है कि जो कर्मचारी पकड़े गए हैं उनमें दो पुरुष व एक महिला कर्मचारी भी शामिल हैं। वहीं दो अन्य कर्मचारी भी संदेह के घेरे में हैं। उनसे भी पूछताछ की जा रही है।

एलडीए वीसी पीएन सिंह कहते हैं कि नकली अंगूठे से बायोमीट्रिक अटेंडेंस लगाने का काम जिस तरह से हो रहा है, उससे यह साफ है कि यह बिना अधिकारियों की शह के नहीं हो सकता। इसकी जांच की जा रही है। कांशीराम स्मारक के प्रबंधक और सहायक प्रबंधक को जवाब तलब के लिए नोटिस जारी किया गया है।

एलडीए वीसी ने कहा है कि बायोमीट्रिक सिस्टम लगाने वाली कंपनी को नोटिस जारी किया गया है। उससे पूछा जाएगा कि आखिर उसका सिस्टम कैसा है कि नकली अंगूठे से अटेंडेंस लग पा रही है। इसका मतलब है कि सिस्टम में कहीं पर कोई खामी है।जांच चल रही है जांच चल रही है ताकि यह सामने आ जाए कि किस स्तर तक के अधिकारी व कर्मचारी शामिल हैं। नकली अंगूठे से हाजिरी लगाने का काम अपराध है। इसको लेकर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी और नौकरी से बर्खास्त भी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *