Tue. Feb 25th, 2020

होमगार्ड विभाग के नायक बने होमगार्ड अयोध्या प्रसाद मौर्य

सड़क दुर्घटना  में घायल अयोध्या प्रसाद मौर्य की हुयी मौत, दोनों आंख किया दान

शेखर यादव

लखनऊ। होमगार्ड अयोध्या प्रसाद मौर्य निवासी मुगलपुरा,मलिहाबाद,लखनऊ। नंबर 2341 ,कंपनी नंबर 23 नगर,। 30 जनवरी को ड्यूटी स्थल गौतमपल्ली,गोमतीनगर से आ रहे थे उसी दौरान हजरतगंज के करीब हुये सडक़ दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो जाते हैं। विभाग के एडीसी के के मिश्रा को सूचना मिलती है फिर उन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जाता है लेकिन आज उनकी मौत हो गयी। जिंदगी और मौत स्वाभाविक है। जिसका समय तय है,उसे जाना ही है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो इस जहां से जाने के बाद भी अपनी पहचान छोड़ जाते हैं।

ऐसे जांबाज को सुपर हीरो,हीरो,नायक वगैरह-वगैरह तमाम नाम दिये जाते हैं। उन्हीं में से एक सुपर हीरो बनें हम सबके जांबाज होमगार्ड अयोध्या प्रसाद मौर्य…। भले ही अयोध्या प्रसाद मौर्य अब हमलोगों के बीच नहीं है लेकिन उन्होंने वर्दी,होमगार्ड विभाग का नाम रौशन कर दिया।

श्री प्रसाद की दिली इच्छा थी कि उनकी मौत के बाद उनकी आंखें दान किया जाये ताकि वे किसी के आंखों के नूर बनें। परिजनों ने डॉक्टर को अयोध्या प्रसाद मौर्य की इच्छा से अवगत कराते हुये उनकी आंखों को दान कर दिया।
सच,अयोध्या प्रसाद मौर्य की सोच को द संडे व्यूज व इंडिया एक्सप्रेस न्यूज़ सैल्यूट करता है। विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को भी फख्र होगा अपने हीरो पर…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *