लोकबंधु हॅास्पिटल में मरीजों को नवग्रह एवं नक्षत्र वाटिका देखने को मिलेगा : राजेश्वर सिंह

0
42

लोकबंधु हॅास्पिटल में मरीजों को ‘नवग्रह’ एवं ‘नक्षत्र वाटिका’ देखने को मिलेगा : राजेश्वर सिंह

लोकबंधु हॉस्पिटल बना यूपी का पहला हॉस्पिटल जहां मरीजों को दिखेगा ‘नवग्रह’ एवं ‘नक्षत्र वाटिका’

विधायक राजेश्वर सिंह ने किया वार्डों का निरीक्षण,मरीजों की देखभाल,सफाई देख डॉक्टरों की तारीफ की

 

  अक्षत श्री.

लखनऊ। राजधानी में एक ऐसा चिकित्सालय है जहां पर मरीजों को ‘नवग्रह‘ एवं ‘नक्षत्र वाटिका‘ भी देखने को मिलेगा। मरीजों को जब पता चलेगा कि राशि एवं ग्रह के अपने-अपने वृक्ष होते हैं और जिनके पूजन से सभी बीमारियों से मुक्ति मिल जायेगी तो वे अपने घर लौटने के बाद उन्हीं पौधों का रोपण करेंगे। यदि आपको ये नजारा देखना है तो ज्यादा दूर नहीं बल्कि लखनऊ में आशियाना स्थित लोकबंधु राजनारायण चिकित्सालय आना होगा। जी हां, राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर सरोजनीनगर के लोकप्रिय विधायक डॉक्टर राजेश्वर सिंह ने चिकित्साालय परिसर में नवग्रह एवं नक्षत्र वाटिका का शुभारम्भ कर दिया है। इस दौरान विधायक ने चिकित्सालय परिसर में सभी वार्डों में जाकर निरीक्षण किया और मरीजों से सीधा संवाद भी किया। यहां पर मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं के साथ अलावा सफाई व्यवस्था देख विधायक ने सभी चिकित्सकों की प्रशंसा की।

 

राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर कल लोकबंधु राजनारायण चिकित्सालय में नवग्रह एवं नक्षत्र वाटिका का शुभारंभ किया गया। मुख्य अतिथि सरोजनी नगर विधानसभा के विधायक डॉक्टर राजेश्वर सिंह ने चिकित्सालय में बने शिव मंदिर के साथ नक्षत्र वाटिका में पीपल एवं शमी पौधे का रोपण किया। साथ ही चिकित्सालय में उपलब्ध सुविधाओं का अवलोकन भी किया। उन्होंने पीडिय़ा वार्ड, पीकू एवं सर्जरी वार्ड के मरीजों को अस्पताल से मिलने वाली सुविधाओं के बारे में पूछताछ भी की। इस दौरान सभी मरीजों ने अस्पताल में मिल रही सुविधाओं की प्रशंसा की। साफ -सफ ाई को देखकर विधायक राजेश्वर सिंह ने सफाई कर्मचारियों की प्रशंसा की।


इस अवसर अवसर पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अजय शंकर त्रिपाठी ने बताया कि इस तरह की वाटिका का निर्माण उत्तर प्रदेश के किसी भी राजकीय चिकित्सालय में नहीं किया गया है। मनुष्य का प्रकृति से लगाव पौराणिक काल से है, राशि एवं ग्रह के अपने – अपने वृक्ष होते हैं, जिनके पूजन से रोग, दोष, विकार का शमन एवं नकारात्मक ऊर्जा का दुष्प्रभाव दूर होता है। इस वाटिका में आने वाले मरीजों को ग्रह ,नक्षत्रों से संबंधित वृक्षों का ज्ञान होगा और अपने गृह निवास के आसपास इन पौधों को रोपण करेंगे। विधि-विधान से पूजा अर्चना कर सुख-समृद्धि प्राप्त कर सकेंगे और स्वस्थ बने रहेंगे। श्री त्रिपाठी ने बताया कि हाल ही में मध्य प्रदेश के खरगौन में गया था तो वहां भी चिकित्सकों को इस तरह के पौधों को लगाने और उसके फायदे के बारे में बताया तो वहां पर भी काफी पौधे लगाये गये हैं। हम सभी ने सुना है और किताबों में पढ़ रखा है कि किन पौधों से मनुष्यों को किस तरह के फायदे मिलते हैं और उनके प्रभाव से कैसे स्वस्थ रह सकते हैं।


निदेशक एवं प्रमुख डॉक्टर दीपा त्यागी ने नक्षत्र वाटिका के निर्माण के लिये डॉ. अजय शंकर त्रिपाठी एवं चिकित्सालय प्रबंधक धनंजय प्रताप की प्रशंसा की। सभी चिकित्सक, फ ार्मेसी, नर्सिंग एवं सभी संवर्ग को इनका देखभाल करने के लिये प्रोत्साहित भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here