सातवें आसमान पर स्पेन, वर्ल्ड कप में सबसे बड़ी जीत, कोस्टा रिका तबाह

0
225

पहले हाफ में ही स्पेन का धमाका

गावी ने रचा इतिहास

दिल्ली स्पोर्ट्स डेस्क

लगातार दो दिन दो पूर्व चैंपियनों के उलटफेर का शिकार होने के बाद 2010 की विश्व विजेता स्पेन ने अपने साथ ऐसे किसी भी ‘हादसे’ की आशंकाओं को खारिज करते हुए जबरदस्त जीत के साथ टूर्नामेंट का आगाज किया. लुइस एनरिके की टीम ने ग्रुप ई के दूसरे मैच में कोस्टा रिका को दोनों हाफ में दना-दन गोल बरसाते हुए 7-0 से पस्त कर दिया और अपने ग्रुप की बाकी टीमों को कड़ी चेतावनी जारी कर दी. स्पेन की इस जीत ने चार बार की चैंपियन जर्मनी की परेशानी बढ़ा दी, जिसे अपने पहले मैच में जापान से उलटफेर का शिकार होना पड़ा.

बुधवार 23 नवंबर को अल थुमामा स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले से ठीक पहले ही जर्मनी को जापान से हार का सामना करना पड़ा. उस नतीजे के बाद ग्रुप ई के इस मुकाबले पर नजरें थीं. स्पेन की टीम पहले से ही कोस्टा रिका की तुलना में ज्यादा मजबूत थी और उसकी हार भी एक उलटफेर की तरह ही होती, लेकिन युवा खिलाड़ियों से भरी स्पेनिश टीम ने अटैक से लेकर डिफेंस तक कोस्टा रिका को कोई मौका नहीं दिया और विश्व कप इतिहास में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की.
स्पेन की ओर से दोनों हाफ में कोस्टा रिका को एक समान रूप से धोया गया. पहले हाफ में ही टीम ने 3-0 की बढ़त हासिल कर ली थी. टीम को अपना खाता खोलने में ज्यादा वक्त नहीं लगा और डैनी ओल्मो ने मैच के 11वें मिनट में बाईं छोर से बने मूव पर गेंद गावी की ओर बढ़ाई जिन्होंने इसे वापस ओल्मो के पास पहुंचा दिया और ओल्मो ने इसे गोल में दाग दिया. यह विश्व कप में स्पेन का 100वां गोल था.स्पेन ने 10 मिनट बाद अपनी बढ़त को दोगुना कर दिया जब सर्जियो बूसकेट्स ने बाएं छोर पर गेंद जोर्डी अल्बा की ओर बढ़ाई. अल्बा ने गेंद को मार्को असेंसियो के पास भेजा जिन्होंने गोल करने में कोई गलती नहीं की. स्पेन को इसके बाद कोस्टा रिका के डिफेंडर के फाउल पर पेनल्टी मिली और 31वें मिनट में फेरान टॉरेस ने इसे गोल में बदलकर टीम को 3-0 से आगे कर दिया.

दूसरे हाफ में भी वही हाल रहा और स्पेन के हमले जारी रहे और टॉरेस ने अपना दूसरा गोल किया. मैच के 54वें मिनट में स्पेन ने दाईं छोर से मूव बनाया. गावी ने गेंद टोरेस की ओर बढ़ाई जिन्होंने अकेले दम पर कोस्टा रिका के तीन खिलाड़ियों को छकाते हुए गोल करके अपनी टीम को 4-0 से आगे कर दिया.इसके बाद युवा मिडफील्डर गावी ने 74 मिनट में स्पेन की बढ़त को 5-0 कर दिया जब उन्होंने अल्वारो मोराटा से मिली गेंद पर दाएं पैर से दमदार शॉट मारा और गेंद पोस्ट से टकराकर गोल के अंदर चली गई. इसके साथ ही गावी विश्व कप के इतिहास में गोल करने वाले स्पेन के सबसे युवा खिलाड़ी बन गए. सोलेर ने 90वें मिनट जबकि मोराटा ने इंजरी टाइम के दूसरे मिनट में गोल दागकर स्पेन को 7-0 से आगे कर दिया जो अंतिम स्कोर साबित हुआ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here