खबर का असर: 23 माह 7 दिन बाद गिरीश पाण्डेय हुये बहाल,षडय़ंत्र रचने वाले अफसरों से होगी पूछताछ

0
373

खबर का छप्पडफ़ाड़ असर : गुनाहों के देवताओं पर भारी मंत्री धर्मवीर प्रजापति की सोच,23 माह 7दिन बाद गिरीश हुये बहाल

होमगार्ड मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने लिया ऐतिहासिक फैसला : 2 साल बाद गिरीश पाण्डेय हुये बहाल

द संडे व्यूज़ ने 2 साल पहले 15 दिसंबर को ही सरकार से किया था सवाल :मुख्यमंत्री जी, बिन घोटाले कर दी बर्खास्तगी!

संजय पुरबिया

लखनऊ। ‘सच्चाई’ उजागर करने एवं ‘सच’ लिखने का माद्दा रखने के लिये मशहूर ‘द संडे व्यूज़’ की खबर पर शासन ने 23 माह 7 दिन बाद लगायी मुहर और होमगार्ड मुख्यालय पर तैनात इंजीनियर गिरीश पाण्डेय हो गये बहाल। होमगार्ड मुख्यालय पर तैनात अधिकारियों ने अपनी पुरानी खुन्नस निकालने के लिये इंजीनियर गिरीश पाण्डेय पर सरकारी कार मरम्मत में घोटाला करने की मनगढ़ंत आरोप लगाकर बर्खास्त कर दिया। अधिकारियों ने ये भी नहीं सोचा कि इसका परिणाम क्या होगा…। बर्खास्तगी का दंश सिर्फ वो कर्मचारी ही नहीं झेलता बल्कि उसका पूरा परिवार झंझावतों के दौर से गुजरने पर मजबूर हो जाता है। यही हाल गिरीश पाण्डेय के साथ हुआ। मुख्यालय के अधिकारियों की शह पर रिटायर्ड मंडलीय कमांडेंट ने सभी रिपोर्ट गिरीश पाण्डेय के खिलाफ बनाकर भेजा और उसी को आधार बनाकर आनन-फानन में 15 दिसंबर 2020 को गिरीश पाण्डेय को बर्खास्त कर दिया गया। आखिरकार 23 माह 7 दिन बाद गिरीश पाण्डेय बहाल हुये और उनके दामन पर जो भ्रष्टाचार का दाग लगा था,वो छूट गया। इसके लिये गिरीश पाण्डेय ने मंत्री धर्मवीर प्रजापति का आभार व्यक्त किया।


द संडे व्यूज़ ने इस खबर को प्रमुखता के साथ उठाया। सवाल था कि ‘मुख्यमंत्री जी,बिन घोटाले कर दी बर्खास्तगी’...। पत्रावली शासन,अफसरान से लेकर न्यायालय तक दौड़ती रही और आखिरकार इस पर नजर होमगार्ड राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्मवीर प्रजापति की पड़ी। मंत्री ने मामले की पड़ताल करायी और शासन को निर्देश दिया कि सच्चाई की तह में जाकर देखा जाये कि वाकई इंजीनियर गिरीश पाण्डेय दोषी है या निर्दोष? यदि निर्दोष है तो उसे बहाल किया जाये…। फिर क्या था जांच ईमानदार डीजी बी.के.मौर्या,आईजी धर्मवीर यादव को सौंपी गयी। दूध का दूध, पानी का पानी हो गया भईया…। आखिरकार 23 माह 7 दिन बाद गिरीश पाण्डेय बहाल हुये और उनके दामन पर जो भ्रष्टाचार का दाग लगा था,वो छूट गया। इसके लिये गिरीश पाण्डेय ने मंत्री धर्मवीर प्रजापति का आभार व्यक्त किया।

इस बाबत मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि भाजपा सरकार में किसी के साथ अन्याय नहीं होगा और मेरे विभाग में तो किसी सूरत में नहीं। गिरीश पाण्डेय के साथ अधिकारियों ने गलत किया था,जिसकी जांच कराने के बाद मैंने उन्हें इंसाफ दिलाया। चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अधिकारी सुधर जायें और अपना काम ईमानदारी से करें वर्ना कार्रवाई के लिये तैयार रहें…।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here