आक्रामक तेवर में आयीं कमांडेंट प्रीति शर्मा : कमांडेंट को बदनाम करने वाले अर्जुन सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज,लापता

0
72

होमगार्ड विभाग का प्रकरण : कहां हो अर्जुन सिंह, पुलिस तुम्हे ढूंढ रही है…

बरेली कमांडेंट के खिलाफ,लोकसेवक का उत्पीडऩ,धोखाधड़ी,मानसिक उत्पीडऩ का केस दर्ज कराया

अर्जुन सिंह ने फर्जी समाचार सेटअप बनाकर कमांडेंट के खिलाफ वीडियो किया वायरल

इंस्पेक्टर बारादरी ने टीम बनाकर लगायी अर्जुन के पीछे,भागा फिर रहा होमगार्डों का फर्जी नेता

 शेखर यादव

इटावा। होमगार्ड विभाग का भी गजब ‘खेला‘ है। जब ड्यूटी मिलती है तो वर्दी को ‘शर्मशार’ करने वाले कृत्य करते हैंजब अधिकारी ‘बर्खास्त’ कर देता है तो उस पर फर्जी तौर पर ‘वसूली’ करने का आरोप लगाना शुरु कर देते हैं। इस विभाग का ‘पुराना ट्रेंड’ चलता चला आ रहा है कि किसी अधिकारी को ‘बदनाम’ करना हो या फिर ‘निलंबन’ कराना हो, तो उसके खिलाफ ‘फर्जी पत्र’ मुख्यमंत्री, मंत्री सहित विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचा दो। जांच बैठेगी और कार्रवाई हो जायेगी। कुछ इसी तरह, होमगार्डों ने ‘नया ट्रेंड’ शुरु कर दिया है। किसी डीआईजी,मंडलीय कमांडेंट, कमांडेंट या विभागीय मंत्री की साख खराब करनी हो तो यू-टयूब में जो मन में आया ‘बकबका’ दो। होमगार्डों के ‘अधकचरे ज्ञान’ वाले कुछ नेता अपने को ‘माहिर खिलाड़ी’ मानते हैं लेकिन अब सभी की ‘हवा’ खराब हैबरेली की कमांडेंट प्रीति शर्मा ने ऐसे ही एक फर्जी एसोसिएशन के बर्खास्त पदाधिकारी अर्जुन सिंह के खिलाफ ‘हल्ला बोल’ कर दिया है। आक्रामक तेवर में आयी कमांडेंट ने बारादरी थाने में एफआईआर दर्ज करा दी हैं, क्योंकि फर्जी एसोसिएशन के बर्खास्त नेता अर्जुन सिंह ने फर्जी वीडियो समाचार चैनल बनाकर उस पर कमांडेंट प्रीति शर्मा पर फर्जी तरीके से गंभीर आरोप लगाया है। अर्जुन सिंह ने जो आरोप लगाया है उसका कोई ‘साक्ष्य’ नहीं है। सीधे तौर पर उसने कमांडेंट की ‘इमेज’ को खराब कर ब्लैक मेल करना चाहा। बहरहाल, एसएसपी के आदेश पर बारादरी पुलिस ने आरोपित बर्खास्त होमगार्ड अर्जुन सिंह के खिलाफ ‘लोकसेवक का उत्पीडऩ’, ‘धोखाधड़ी’, ‘मानसिक उत्पीडऩ’, ‘मानहानि’,  ‘प्रतिष्ठा’खराब करने एवं ‘आईटी एक्ट’ की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया है। एफआईआर दर्ज होते ही फर्जी एसोसिएशन,फर्जी यू-टयूब चैनल चलाने वाला ‘जांबाज’ कहीं नजर नहीं आ रहा है। पुलिस ढूंढ रही है और जांबाज अर्जुन सिंह ‘लापतागंज’ चले गये हैं।

पुलिस को दी गयी तहरीर में बरेली की कमांडेंट प्रीति शर्मा ने बर्खास्त एसोसिएशन के फर्जी होमगार्ड अर्जुन सिंह पर कानून व्यवस्था ध्वस्त करने, होमगार्डों को बरगलाने, मुख्यमंत्री की साख खराब करने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा है कि आरोपित को शासन के निर्देश पर 8 दिसंबर 2022 को बर्खास्त कर दिया गया। उसके बाद वो उच्च न्यायालय गया,जहां उसकी याचिका खारिज कर दी गयी। 29 दिसंबर 2022 को अर्जुन सिंह ने एक फर्जी समाचार चैनल का सेटअप बनाकर कमांडेंट के खिलाफ वीडियो तैयार किया और विभिन्न ग्रुपों में वायरल कर दिया। तहरीर में कमांडेेेंट ने मानसिक उत्पीडऩ करने,विभाग की साख को बदनाम करने का आरोप लगाया है।

कमांडेंट प्रीति शर्मा ने बताया कि अर्जुन सिंह मेरे खिलाफ गलत खबर चलाकर धन उगाही करना चाह रहा था,लेकिन जब मैं सही तरीके से विभाग को ऊंचा ले जाने का काम कर रही हूं तो क्यों अर्जुन जैसे फर्जी नेताओं के दबाव में आऊं। मेरे मना करने पर अर्जुन सिंह अलग-अलग नाम से मेरे खिलाफ शिकायतें करने लगा। उसने मीडिया को बदनाम करना शुरु कर दिया,क्योंकि इस विभाग में फर्जी तरीके से यू 5-टयूब चैनल बनाकर होमगार्ड नेता अधिकारियों पर दबाव बनाने का खेल खेलते रहे हैं। प्रीति शर्मा ने बताया कि मैं शासन द्वारा निर्धारित कार्यों को ही निष्पादित करती हूं और मेरी पूरी कोशिश जवानों के हित में काम करना रहा है और आगे भी बिना दबाव अपना काम करती रहुंंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here