Tue. Mar 2nd, 2021

26 जनवरी को है हनुमान सेतु मंदिर की स्थापना दिवस

26 जनवरी 1967 को मंदिर की हुयी थी स्थापना- दिवाकर त्रिपाठी

वेद पाठ से होगा शुभारंभ, 23 से बैठेगी रामायण

कोविड प्रोटोकॉल को होगा पालन

संजय पुरबिया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हनुमान सेतु स्थित श्रीसंकटमोचन हनुमान मंदिर और बाबा नीबकरौरी आश्रम का 54वां स्थापना दिवस समारोह आगामी 26 जनवरी को धूमधाम से मनाया जायेगा। हनुमान जी पर आस्था रखने वाले भक्त इस मंदिर को साधारणत: हनुमान सेतु मंदिर के नाम से जानते हैं। यह कहना है मंदिर के प्रबंधकर्ता दिवाकर त्रिपाठी का।

दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि स्थापना दिवस पर हनुमान जी का श्रृंगार व अभिषेक किया जायेगा। इसके अलावा श्रीरामचरित मानस का पाठ और भंडारे का आयोजन भी होगा। श्री त्रिपाठी ने यह भी बताया कि कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुये 26 जनवरी को भजन कार्यक्रम मंदिर के सामने पार्किंग स्थल पर कराया जायेगा। जगह अधिक होने की वजह से भक्त दूरी बनाकर बैठ सकें गे। भंडारे के लिये भी भोजन के पैकेट बनवाकर भक्तों में उनका वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि स्थापना दिवस समारोह 5 दिन पहले से ही शुरु हो जायेगा। समारोह का शुभारंभ वेद पाठ से किया जायेगा। इसको परिसर में स्थित गुरुकुल आश्रम के विद्यार्थी व शिक्षक करेंगे। 23 तारीख से रामायण बिठा दी जायेगी, 24 की शाम को विश्राम लेगी। 25 को सुंदरकांड का पाठ किया जायेगा। 26 जनवरी को स्थापना वाले दिन सुबह हनुमान जी महाराज का श्रृंगार व अभिषेक किया जायेगा। उसके बाद भंडारा शुरु होगा।

दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि गोमती नदी तट पर बने हनुमान सेतु मंदिर की स्थापना सन् 1967 मे 26 जनवरी को हुयी थी। मंदिर की स्थापना संत बाबा नीब करौरी ने की थी। बाबा नीम करौरी सिद्ध संत थे। सूबे के लोगों में उनके प्रति बड़ी श्रृद्धा है इसलिये मंदिर का पूरा नाम श्रीसंकटमोचन हनुमान मंदिर एवं बाबा नीब करौरी आश्रम रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *