प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘जल शक्ति मिशन योजना’ पर ग्रहण बना दबंग प्रेमचंद ,पुलिस-प्रशासन ने टेके घुटने

0
351

यूपी में योगीराज लेकिन पीएम के प्रोजेक्ट पर भारी काकोरी का रंगबाज प्रेमचंद

काकोरी पुलिस,प्रशासन की शह पर मंडौली गांव का दबंग प्रेमचंद फेल कर रहा प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट

अवनी स्वयं सहायता समूह’ की महिलाओं ने उठायी आवाज,एसडीएम,सीओ दबंग के खिलाफ नहीं कर रहें कार्रवाई

पीएम की योजना लागू होने से चार गांव को मिलेगा पीने का स्वच्छ पानी

पुलिस-प्रशासन ने गांव के दबंग प्रेम के सामने घुटने टेक दिये हैं: मो.आजाद, प्रधान

  संजय पुरबिया

लखनऊ। भाजपा के लिये लोकसभा चुनाव 2024 प्रतिष्ठा का विषय है। मंशा तो है कि सभी 80 सीटों पर जीत का सेहरा बांध कर एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘प्रधानमंत्री’ बनाकर रिर्कार्ड कायम किया जाये। इसी के तहत केन्द्र सरकार ने भारत के सभी गांव में पीने का स्वच्छ पानी घर-घर पहुंचाने के लिये ‘प्रधानमंत्री जल शक्ति मिशन योजना’ चलायी। इसका सीधा असर ग्रामीण क्षेत्र के वोट बैंक पर पड़ेगा क्योंकि जब ग्रामीण अंचल के घरों में पानी मिलेगा तो उसी हिसाब से थोक के भाव से वोट बैंक भी भाजपा के खाते में गिरेगा लेकिन…। लखनऊ के काकोरी में पडऩे वाले गांव मंडौली के दबंग प्रेम,राजेश और श्री राम ने प्रधानमंत्री के सपने को ध्वस्त कर दिया है। प्रशासन ने गांव के ही बंजर जमीन, खसरा संख्या 582 पर ‘प्रधानमंत्री जल शक्ति मिशन योजना’ के तहत बोरिंग कराने के साथ ही पाईप लाईन बिछा दी। बस यहां पर पानी की टंकी बनता और आसपास के चार गांवों में पीने का स्वच्छ जल पहुंचने लगता लेकिन दबंग प्रेम ने काम रुकवा दिया और बोरिंग वाली जगह पर चारो तरफ से बाउन्ड्री उठवा कर मकान का निर्माण करने जा रहा है। मंडोली गांव के प्रधान मोहम्मद आजाद सहित गांव वालों ने इसकी शिकायत पुलिस विभाग के बड़े अधिकारियों सहित एसडीएम,मलिहाबाद मीनाक्षी पाण्डेय से की लेकिन कोई झांकने नहीं आया। चौंकाने वाली बात तो यह है कि जिस दिन निर्माण कार्य हो रहा था प्रधान ने एसडीएम,मलिहाबाद को फोन किया…। उन्होंने आश्वासन दिया कि मौके पर पुलिस को भेज रही हूं लेकिन कोई झांकने नहीं आया और दबंग ने चारो ओर बाउन्ड्रीवाल उठाते हुये सरकार को चुनौती दे डाली कि दम है तो काम रोक कर दिखाओ…। बात जो भी हो,यूपी में सरकार योगी आदित्यनाथ की है और योजना प्रधानमंत्री के नाम का…। सवाल यह है कि आखिर इन दबंगों पर किसका हाथ है जो सरकार की ड्रीम प्रोजेक्ट में बाधा डालने की जुर्रत कर रहा है। प्रधान ने साफ तौर पर आरोप लगाया कि काकोरी पुलिस और प्रशासन पूरी तरह से भू-माफिया प्रेम,राजेश और श्रीराम के कब्जे में है। वहीं, अवनी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने हुंकार भरी कि यदि इन दबंगों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई नहीं की गयी तो हजारों की संख्या में महिलाएं रास्ता जाम कर सरकार की आंख खोलेंगी।

सरकारी दावा है कि तहसील दिवस पर मौके पर ही जनता की समस्याओं का निस्तारण किया जा रहा है लेकिन ये सच साबित होते नहीं दिख रहा। काकोरी के मंडौली गांव में रहने वाले दबंगों के खिलाफ रईश अहमद ने एसडीएम,मलिहाबाद मीनाक्षी पाण्डेय से मिलकर शिकायत की। पत्र में लिखा है कि मंडौली गांव के खसरा संख्या 582 बंजर दर्ज है,जिस पर वर्ष 2006 में पांच लोगों के नाम से अवैघ तरीके से पट्टे हो गये थे। जिसके खिलाफ प्रार्थी ने एसडीएम,प्रशासन के यहां वर्ष 2007-8 में मुकदमा संख्या एक-दो दाखिल किया था, जो 4 मार्च 2008 को खारिज हो गया। यही वजह है कि पटट धारकों का कभी भी 582 नंबर पर कब्जा नहीं रहा और ना ही निर्माण कार्य हुआ।

पत्र में शिकायत की गयी है कि जब जमीन खाली पड़ी थी तो शासन ने उस पर प्रधानमंत्री जल शक्ति मिशन योजना अंतर्गत बड़ी बोरिंग करा दी। वहां पर टंकी बनाने का काम होना था क्योंकि ऐसा होने से 4 गांव क्रमश: ग्राम सभा मंडौला,खेड़ा, टिकैतगंज व गोला कुआं में रहने वाले ग्रामीणों के घरों तक स्वच्छ पीने का पानी पहुंचने लगता। लेकिन दबंग प्रेमचंद,राजेश पुत्र मेवालाल निवासी मंडौली आये दिन निर्माण स्थल पर हंगामा करते हैं।

‘द संडे व्यूज़’ कार्यालय पहुंची ‘अवनी स्वयं सहायता समूह’ सखी प्रीती रावत,स्वास्थ्य सखी अनीता देवी,संगीता,मुन्नी देवी,सुमन,मुन्नी ने बताया कि प्रधानमंत्री जल शक्ति मिशन योजना लागू होने से चारो गांव के लोगों को पीने का पानी मिलने लगता और ये प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट है। केन्द्र व राज्य सरकारें चाहती है कि गांव में विकास हो,सभी को पीने का पानी मिले लेकिन प्रेमचंद व राजेश जैसे दबंगों की वजह से प्रधानमंत्री की योजना खतरे में पड़ गयी है। निर्माण कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं और इसकी शिकायत डीएम,एसडीएम, पुलिस विभाग के एसीपी,सीओ व इंस्पेक्टर काकोरी से की गयी लेकिन दबंगों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी। महिलाओं ने हुंकार भरा कि यदि शीघ्र अवैध तरीके से बने बाउन्ड्रीवाल तोडऩे के साथ-साथ इनकी गिरफ्तारी नहीं की गयी तो सैंकड़ों महिलाओं के साथ रास्ता जाम करेंगे।

दूसरी तरफ मंडौली गांव के प्रधान मो.आजाद और मो.जावेद ने कहा किने कहा कि प्रेमचंद्र के खिलाफ गांव वाले आवाज उठाते हैं तो वो काकोरी थाना में हरिजन एक्ट का मुकदमा दर्ज करा देता है। यही वजह है कि उसकी गुंडागर्दी बढ़ती जा रही है और अब प्रधानमंत्री की योजनाओं को रोकने का काम कर रहा है,जिससे चार गांवों में पीने का स्वच्छ पानी मिलने वाला था। उन्होंने यह भी कहा प्रेमचंद्र ने काकोरी थाना और तहसील को अपनी जेब में रख लिया है। वो खुलेआम कहता-फिरता है कि खाकी और प्रशासन मेरे खिलाफ कुछ भी नहीं कर सकती क्योंकि मैं उनकी डिमांड पूरी करता हूं…। बहरहाल प्रधानमंत्री के प्रोजेक्ट पर ही एक दबंग ग्रहण की तरह बैठ गया है। यदि इस पर शीघ्र अंकुश नहीं लगा तो इसमें भी संदेह नहीं कि 2024 में मलिहाबाद विधान सभा पर इसका सीधा असर दिखायी देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here