राज्यसभा चुनाव से पहले सपा रख रही फूंक-फूंक कर कदम

0
43

ब्यूरो, लखनऊ : समाजवादी पार्टी ने 27 फरवरी को हो रहे राज्यसभा चुनाव के मद्देनजर शनिवार को अपने विधायकों को वोट देने का तरीका समझाया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की उपस्थिति में पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल ने वरीयता के आधार पर मतदान की बारीकियां समझाईं। अब रविवार को पार्टी अपने विधायकों को डमी मतपत्र के जरिये मतदान का प्रशिक्षण देगी।

प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिए हो रहे चुनाव में 11 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें भाजपा के आठ व सपा के तीन प्रत्याशी शामिल हैं। एक प्रत्याशी को जिताने के लिए 37 विधायकों के मतों की जरूरत है। सपा को अपने तीनों प्रत्याशी जिताने के लिए 111 विधायकों के मतों की जरूरत है। उसके पास 108 विधायक हैं, इनमें से दो विधायक जेल में हैं। कांग्रेस के दो विधायकों के मत मिलने के बावजूद उसे और विधायकों के मतों की जरूरत है

इस चुनाव में एक-एक वोट कीमती है, इसलिए सपा ने अपने विधायकों को एकजुट रखने के साथ ही उन्हें मतदान का तरीका भी समझा रही है। सपा अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई बैठक में दो महिला सहित चार विधायक शनिवार को नहीं आए। हालांकि, इन विधायकों ने सपा मुखिया को पहले ही पत्र लिखकर शनिवार को न आकर रविवार को प्रशिक्षण में आने की बात कही थी। बैठक में अखिलेश ने कहा कि सभी को एकजुट होकर मतदान करना है, उनके तीनों प्रत्याशी चुनाव जीतेंगे।

प्रो. रामगोपाल ने बताया कि मतपत्र में विधायक को उसके आवंटित प्रत्याशी के समक्ष केवल एक खड़ी लाइन खींचनी है। किसी भी दूसरे खाने में वह छूनी नहीं चाहिए। मतपत्र में अपने पेन से वोट नहीं देंगे, आयोग के पेन का ही इस्तेमाल करना होगा। सभी विधायकों को अपना मत पोलिंग एजेंट को दिखाकर डालना होगा। अब रविवार को पार्टी सभी विधायकों को डमी मतपत्र के जरिये वोट देने का सलीका भी सिखाएगी। मतदान का प्रशिक्षण कराने के लिए पार्टी ने डमी मतपत्र तैयार कराए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here