बैंक कर्मियों का वेतन 17 फीसदी बढ़ा, हफ्ते में पांच दिन ही खुलेंगे बैंक

0
172
नरेन्द्र मोदी का  मास्टर स्ट्रोक…

बैंक में काम करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों की झोली खुशियों से भर दी

छुट्टियों में भी तमाम बदलाव

 संजय पुरबिया

लखनऊ। लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चुनाव से पूर्व बैंक में काम करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों की झोली खुशियों से भर दी। लंबे समय से चली आ रही मांग को आगामी लोकसभा चुनाव से पहले पूरी कर एक तरह से नरेन्द्र मोदी ने मास्टर स्ट्रोक मारा है। बैंककर्मियों के साथ-साथ उनके परिजन बेहद खुश हैं। लगता है आगामी लोक सभा चुनाव में बड़े पैमाने पर वोट का सिजरा एनडीए के खाते में जा सकता है। पीएनबी,एसबीआई में काम करने वाले अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लंबे समय से चली आ रही वेतन वृद्धि और अवकाश सहित कई मांगों को पूरी कर शिवरात्रि के दिन हमलोगों को बड़ा तोहफा दिया है।

लंबे समय से अटके समझौते पर शुक्रवार को इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) और आल इंडिया बैंक आफिसर्स एसोसिएशन ने दस्तखत कर दिए। हफ्ते में पांच दिन की बैंकिंग को भी आईबीए ने स्वीकार कर लिया है। इसे सरकार के पास भेजा जाएगा, जिस पर छह महीने के अंदर फैसला लिया जाएगा। वेतन वृद्धि समेत अन्य सुविधाएं तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं। इनका लाभ एक नवंबर 2022 से मिलेगा।बैंकिंग संगठन की लंबे समय से अवकाश और वेतन वृद्धि सहित कई मांगों को लेकर आईबीए के साथ वार्ता चल रही थी लेकिन अंतिम सहमति नहीं बन पाई थी। शिवरात्रि पर बैंक अधिकारियों और कर्मचारियों की मांगों को आईबीए ने स्वीकार कर लिया और समझौता पत्र पर दस्तखत कर दिए।

समझौते में हफ्ते में पांच दिन बैंकिंग का रास्ता साफ हो गया। अभी महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को बैंकों में अवकाश रहता है। अब महीने के सभी शनिवार को बैंकों में अवकाश का प्रस्ताव आईबीए ने स्वीकार कर लिया है। इसके एवज में बैंकिंग कामकाज सुबह 10 से शाम 5 बजे की जगह सुबह 9.50 से शाम 5.30 बजे करने का प्रस्ताव है। आईबीए सरकार को सिफारिश भेजेगा, जिस पर 6 महीने के अंदर अंतिम फैसला लिया जाएगा।

समझौते के बाद बैंक कर्मचारियों व अधिकारियों का वेतन 17 फीसदी बढ़ गया है। उन्हें कुल 12949 करोड़ रुपये वेतन के रूप में ज्यादा मिलेंगे। बेसिक सेलरी डेढ़ गुना हो गई है। मोटे तौर पर एक क्लर्क का वेतन 7 हजार से 30 हजार रुपये तक बढ़ेगा, जबकि अधिकारी को 13 हजार से 50 हजार रुपये तक का इंक्रीमेंट मिलेगा। इसका फायदा देश भर के करीब 11 लाख और उत्तर प्रदेश के एक लाख अधिकारियों व कर्मचारियों को होगा।
  • आधे दिन की कैजुअल छुट्टी मिलेगी।
  • महिलाओं को महीने में एक दिन चिकित्सा अवकाश बिना प्रमाणपत्र के
  • स्पेशल चाइल्ड वाले दंपती को 30 दिन की स्पेशल छुट्टी। मेडिकल सर्टिफिकेट देने की जरूरत नहीं।
  • 58 साल के ऊपर के वरिष्ठ स्टाफ को पत्नी की बीमारी पर पत्नी के मेडिकल सर्टिफिकेट पर अवकाश
  • छुट्टी का नगदीकरण 240 दिन से बढ़ाकर 255 दिन कर दिया गया।
आईबीए के साथ समझौते पर दस्तखत हो गए। इसी के साथ क्लर्क स्टाफ की सेलरी में 7 से 30 हजार रुपये और अधिकारियों की सेलरी में 13 से 50 हजार रुपये तक वृद्धि होगी। हफ्ते में पांच दिन बैंकिंग का प्रस्ताव आईबीए ने पास कर दिया है। इसे सरकार को भेजा जाएगा। -रजनीश गुप्ता, संयुक्त सचिव, आल इंडिया बैंक इम्पलाइज एसोसिएशन
इतने बैंकों के कर्मचारियों को फायदा
स्टेट बैंक आफ इंडिया
बैंक आफ बड़ौदा
बैंक आफ इंडिया
बैंक आफ महाराष्ट्र
केनरा बैंक
सेंट्रल बैंक
इंडियन बैंक
इंडियन ओवरसीज बैंक
पंजाब एंड सिंध बैंक
पंजाब नेशनल बैंक
यूको बैंक
यूनियन बैंक
फेडरल बैंक
कर्नाटक बैंक
जम्मू एंड कश्मीर बैंक
साउथ इंडियन बैंक
करुर वैश्य बैंक
आरबीएल बैंक
नैनीताल बैंक
कोटक महिन्द्रा
धनलक्ष्मी बैंक
आईडीबीआई बैंक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here